First Floor, Pant Properties, Plot No. 2 & 3, A-1 Block, Budh Bazar Rd, Gandhi Chowk, Mohan Garden, Uttam Nagar, New Delhi, Delhi 110059 110059 Delhi IN
Bookish Santa
First Floor, Pant Properties, Plot No. 2 & 3, A-1 Block, Budh Bazar Rd, Gandhi Chowk, Mohan Garden, Uttam Nagar, New Delhi, Delhi 110059 Delhi, IN
+918851222013 https://www.bookishsanta.com/s/63fe03d26a1181c480898883/63ff598ca28ce28f2242c957/logo_red-480x480.png" [email protected]
9788126722549 6422c0b8d6b8b60283322245 Shabdon Ka Safar : Vol. 2 https://www.bookishsanta.com/s/63fe03d26a1181c480898883/6422c0bad6b8b6028332228d/book-rajkamal-prakashan-9788126722549-19221785084070.jpg
ब्लॉग-जगत में भाषा के प्रेमियों के बीच अजित न का एक बहुत रसीला ब्लॉग, शब्दों का सफ़र, अर्से से लोकप्रिय रहा है । अजित जी ने आम बोलचाल के शब्दों के रहस्य खोल कर भाषा की अंतरराष्ट्रीय और संस्करण की जटिल और लंबी प्रक्रिया से भी पाठकों का परिचय कराया है । इसका पुस्तकाकार प्रकाशन देखना सुखद है । --मृणाल पाण्डे, वरिष्ठ कथाकार-पत्रकार अजित न प्रमाण है कि हिंदी रुकेगी नहीं । कम से कम लेकिन रोचक शब्दों में अधिक से अधिक कह देना उनके शब्दों के सफ़र की पहचान है । उनकी छोटी-छोटी ललित लोल रचनाओं में री, प्रवाह, लय का आस्वाद है । सच तो ये है कि यह मानवता के विकास का महासफ़र है । --अरविन्द कुमार, ख्यात कोशकार बहुत शोधपरक, उपयोगी और महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ । हिंदी में इतनी संलग्नता के साथ ऐसा परिश्रम करने वाले विरले ही होंगे । तपस्या कहूँ कि लगन कि साधना or a passionate pursuit? Whatever, you are doing a very useful job Kudos ! big Big Kudos -- उदय प्रकाश, वरिष्ठ साहित्यकारा|

9788126722549
in stock INR 1036
Rajkamal Prakashan
1 1

ब्लॉग-जगत में भाषा के प्रेमियों के बीच अजित न का एक बहुत रसीला ब्लॉग, शब्दों का सफ़र, अर्से से लोकप्रिय रहा है । अजित जी ने आम बोलचाल के शब्दों के रहस्य खोल कर भाषा की अंतरराष्ट्रीय और संस्करण की जटिल और लंबी प्रक्रिया से भी पाठकों का परिचय कराया है । इसका पुस्तकाकार प्रकाशन देखना सुखद है । --मृणाल पाण्डे, वरिष्ठ कथाकार-पत्रकार अजित न प्रमाण है कि हिंदी रुकेगी नहीं । कम से कम लेकिन रोचक शब्दों में अधिक से अधिक कह देना उनके शब्दों के सफ़र की पहचान है । उनकी छोटी-छोटी ललित लोल रचनाओं में री, प्रवाह, लय का आस्वाद है । सच तो ये है कि यह मानवता के विकास का महासफ़र है । --अरविन्द कुमार, ख्यात कोशकार बहुत शोधपरक, उपयोगी और महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ । हिंदी में इतनी संलग्नता के साथ ऐसा परिश्रम करने वाले विरले ही होंगे । तपस्या कहूँ कि लगन कि साधना or a passionate pursuit? Whatever, you are doing a very useful job Kudos ! big Big Kudos -- उदय प्रकाश, वरिष्ठ साहित्यकारा|

Author AjitWadnerkar
Language Hindi
Publisher Rajkamal Prakashan
Isbn 13 9788126722549
Pages 376
Binding Hardcover
Stock TRUE
Brand Rajkamal Prakashan